Delhi High Court News: शैक्षणिक संस्थानों में दिव्यांगों को 5% कोटा देने की व्यवस्था का पालन करें, हाई कोर्ट का दिल्ली सरकार को आदेश

Delhi High Court News: शैक्षणिक संस्थानों में दिव्यांगों को 5% कोटा देने की व्यवस्था का पालन करें, हाई कोर्ट का दिल्ली सरकार को आदेश

Delhi High Court News:

दिल्ली उच्च न्यायालय ने सीएम अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व वाली आप सरकार को निर्देश दिया कि वह राष्ट्रीय राजधानी के सभी शिक्षण संस्थानों में दिव्यांगों के लिए 5 प्रतिशत आरक्षण सुनिश्चित करे। हाई कोर्ट ने कहा कि ऐसा करना दिव्यांगजन अधिकार अधिनियम के तहत अनिवार्य है।

“नई दिल्ली: दिल्ली हाई कोर्ट ने एक आदेश जारी किया है, जिसमें राष्ट्रीय राजधानी की सरकार को सभी शिक्षण संस्थानों में दिव्यांग छात्रों के लिए 5 प्रतिशत आरक्षण सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया है। यह निर्देश दिव्यांगजन अधिनियम के तहत अनिवार्य है।”

मुख्य न्यायाधीश सतीश चंद्र शर्मा के अध्यक्षता वाली पीठ ने गुरु गोबिंद सिंह इंद्रप्रस्थ विश्वविद्यालय से दिव्यांग व्यक्तियों के लिए कानून के अनुसार सीटों को आरक्षित करने का प्रस्ताव किया है।

अदालत ने यह आदेश एक जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए दिया। याचिका में आरोप लगाया गया था कि प्रतिवादी विश्वविद्यालय दिव्यांगजन अधिकार अधिनियम 2016 के तहत आरक्षित पांच प्रतिशत सीट दिव्यांगों को नहीं दे रहा है। पीठ में न्यायमूर्ति सौरभ बनर्जी भी शामिल थे।

अदालत ने यह एलान किया है कि विश्वविद्यालय ने सभी पाठ्यक्रमों में दिव्यांग छात्रों के लिए पांच प्रतिशत की आरक्षण योजना प्रारंभ की है। इसलिए, इस विषय पर आगे कोई आदेश पारित करने की आवश्यकता नहीं है। “पीठ ने तथापि कहा है कि दिल्ली सरकार और विश्वविद्यालयों को सुनिश्चित करना चाहिए कि दिव्यांगों के लिए आरक्षित सभी सीटों को भरने के लिए हर संभव प्रयास किया जाए।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *